शादी करने गए दूल्‍हे ने दुल्‍हन की मां को देखकर शादी से कर दिया इंकार, वजह जानकर हो जाएंगे हैरान

2138

हमारे समाज में शादियों की बेहद ही मान्‍यता है वहीं आपको ये भी बता दें कि हिंदु समाज में शादी को एक महत्‍वपूर्ण संस्‍कार है इसके अलावा आपको ये भी बता दें कि जैसा कि शास्‍त्रों में बताया गया है कि व्‍यक्ति के जीवन में 16 संस्‍कार जिनमें से एक संस्‍कार शादी का होता है। विवाह दो लोगों का औपचारिक या कानूनी मिलान है। आम तौर पर जब दो लोग शादी करते हैं, तो वे इस अवसर को एक विवाह समारोह के साथ मनाते हैं। हालांकि एक वैवाहिक रिश्ते को लम्बे समय तक चलने और सफ़ल बनाने के लिए मेहनत करनी पड़ती है।

जी हां आपको बता दें कि जो भी व्‍यक्ति विवाह नहीं करता है वो सन्‍यास ले लेता है लेकिन वहीं अगर व्यक्ति संन्यास नहीं लेता है तो उसका विवाह करना बेहद जरूरी हो जाता है और फिर ये भी बता दें कि विवाह के बाद ही पित्र ऋण चुकाया जाता है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसा मामला सुनाने जा रहे हैं जो वाकई में होश उड़ा देने वाला है।

जी हां दरअसल हाल ही में कुछ ही समय पहले गोपी गंज स्थित बाबा बड़े शिव मंदिर में एक शादी का समारोह रखा गया था जैसा कि हर शादियों में होता है इस शादी में भी काफी लोग इकट्ठा हुए थें इतना ही नहीं हर कोई शादी की धुन में मग्‍न था सब कोई बेहद खुश था। तभी दूल्हा मंदिर पर बारात लेकर पहुंचा और जैसे ही दूल्‍हे की नजर दुल्हन की माँ पर पड़ी तो उसने तुरंत ही शादी करने से इनकार कर दिया।

जी हां ये सुनकर आपको हैरानी जरूर हो रही होगी लेकिन कुछ ऐसा ही हुआ और फिर दूल्‍हे के शादी से इंकार करने के बाद वहां मौजूद सभी लोग हैरान हो गए की आखिर दुल्हन की माँ को देखकर दुल्हे ने शादी से कैसे इनकार कर दिया। अब आप यही सोच रहे होंगे कि भला दूल्‍हे ने ऐसा क्‍यों किया और आखिर दुल्हन की माँ से शादी का क्या ताल्लुक हो सकता है जो उसने ऐसा कर दिया ? तो आपको बता दें कि दूल्‍हे ने ऐसा इसलिए किया क्‍योंकि जैसे ही वो मंडप में पहुंचा उसने देखा कि दुल्हन की माँ को देखा और उसे दिखा की उसकी मां के चेहरे पर सफ़ेद दाग है जिस कारण से दूल्हा भड़क गया और उसने शादी करने से ही माना कर दिया।

दरअसल बता दें कि दुल्हन की माँ को सफ़ेद दाग का रोग है और इस बात को उसने लड़के वालों से छिपाया था जिसकी वजह से दूल्‍हा भड़क गया और फिर क्‍या था लड़की वालों ने दुल्हे पक्ष को मनाने की बहुत कोशिश की लेकिन उसने किसी की न सुनी और बहुत ज्यादा गुस्सा हो गया। जिसके बाद लड़की वालों ने पुलिस की सहायता ली और पुलिस ने पंचायत की मदद से मामले को शांत कराया फिर जाकर दूल्हा शान्त हुआ।

जिसके बाद पंचायत और पुलिस वालो की बात मानते हुए दूल्हा शादी करने को राजी हो गया और उसके बाद आखिरकार शादी संपन्न हो ही गई और इसके बाद लड़की वालों ने राहत की सांस ली।