सामने आया इंडिया टुडे का सर्वे, जाने अगले साल किसकी बन सकती है सरकार और कैसा होगा मोदी जी का हाल

3458

अगर हम राजनीती की बात करे तो आज कल चारो तरफ आने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारियां बड़े जोरो शोरो से चल रही है. जी हां हर कोई ये जानना चाहता है कि आखिर अगले साल किसकी सरकार बनने की सबसे ज्यादा उम्मीद है. गौरतलब है कि हर राजनीतिक पार्टी अगले साल चुनाव लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार हो चुकी है. वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ऐसे तीन राज्यों में लोकसभा का चुनाव होने वाला है, जहाँ बीजेपी की सरकार है. इसके इलावा जिस तरह देश भर में मोदी सरकार छाई हुई, उसे देख कर हर किसी को यही लग रहा है कि अगले साल भी मोदी जी की ही सरकार बनेगी.

वही जिन राज्यों में बीजेपी सरकार बनी हुई है, वो राज्य मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान है. केवल इतना ही नहीं इसके इलावा आपकी जानकारी के लिए बता दे कि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ दो ऐसे राज्य है, जहाँ पिछले पंद्रह सालो से बीजेपी की सरकार ही बनी हुई है. ऐसे में ये कहना गलत नहीं होगा कि इस बार भी इन राज्यों में मोदी सरकार बनने की पूरी पूरी उम्मीद है. हालांकि अगर राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की बात करे, तो पिछले पांच सालो से उनकी छवि में कुछ खास इजाफा नहीं हुआ है.

गौरतलब है कि तीनो राज्यों में करवाए गए सर्वे के आधार पर सभी राज्यों की जनता ने प्रधानमंत्री के रूप में मोदी जी का ही चयन किया है. जी हां इसका मतलब ये है कि जनता अगले साल भी प्रधानमंत्री के रूप में मोदी जी को ही देखना चाहती है. इसके इलावा इंडिया टुडे माय इंडिया सर्वे के आधार पर यदि बात की जाएँ तो यह सर्वे हर संसदीय क्षेत्र में पूरी तरह से टेलीफोन सर्वे पर ही आधारित है. गौरतलब है कि पीएसइ की रिपोर्ट के अनुसार मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री पद के लिए लोगो की पहली पसंद बन चुके है.

जी हां करीब छयालीस प्रतिशत लोगो का कहना है कि वो शिवराज सिंह चौहान को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते है. वही छत्तीसगढ़ की पीएसइ रिपोर्ट के अनुसार इकतालीस प्रतिशत लोग रमन सिंह को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते है. वही सर्वे के अनुसार दूसरे नंबर पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल को इक्कीस प्रतिशत लोगो ने पसंद किया है. हालांकि अगर तीनो राज्यों की बात करे तो करीब साठ प्रतिशत लोग नरेंद्र मोदी जी को प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहते है.

जी हां इसका मतलब ये है कि अगले साल भी प्रधानमंत्री बनने की सबसे ज्यादा उम्मीद नरेंद्र की ही है. मगर अगले साल किसकी सरकार बनेगी, ये कहना अभी जरा मुश्किल होगा, क्यूकि कई बार राजनीती को लेकर किया गया सर्वे गलत भी साबित होता है. अब यूँ तो हर कोई यही चाहता है कि अगले साल भी नरेंद्र मोदी ही हमारे देश के पीएम बने, लेकिन फिर भी मोदी सरकार ने इस बार कुछ ऐसे फैसले लिए है, जिससे जनता को काफी परेशानी हुई है. इसलिए ऐसा हो सकता है कि अगले साल जनता नरेंद्र मोदी का चयन न करे.

बरहलाल हम तो यही उम्मीद करते है कि अगली बार जो भी व्यक्ति देश का प्रधानमंत्री बने, वो केवल देश का भला करने वाला हो.