पीएम मोदी से बस इतना ही चाहती हैं उनकी पत्‍नी, खुद मीडिया के सामने किया खुलासा

2710

हमारे देश में शायद ही ऐसा कोई इंसान होगा जो पीएम मोदी को नहीं जानता होगा। जी हां ये हमारे देश के प्रधानमंत्री हैं इसलिए इनको बच्‍चा-बच्‍चा तक जानता है। मोदी भारतीय जनता पार्टी एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सदस्य है। अभी तक शायद ही कोई ऐसा नेता रहा होगा जिसका नाम भारत में ही नहीं बल्‍कि विदेशों में भी खुब नाम कमाया होगा।

वडनगर के एक गुजराती परिवार में पैदा हुए, मोदी ने अपने बचपन में चाय बेचने में अपने पिता की मदद की और बाद में अपना खुद का स्टाल चलाया। आठ साल की उम्र में वे आरएसएस से जुड़े, जिसके साथ एक लंबे समय तक सम्बंधित रहे। स्नातक होने के बाद उन्होंने अपने घर छोड़ दिया। मोदी ने दो साल तक भारत भर में यात्रा की और बताया जाता है कि इस दौरान वो कई धार्मिक केंद्रों का दौरा किया।

लेकिन आज हम आपको पीएम मोदी के बारे में नहीं बल्‍कि उनकी पत्‍नी के बारे में बताने जा रहे हैं दरअसल बता दें कि पीएम मोदी ने देश हित के लिए अपनी पत्नी तक को छोड़ दिया था। बता दें नरेंद्र मोदी की पत्नी का नाम जशोदा बेन है।दरअसल हाल ही में एक इंटरव्‍यू के दौरान मोदी की पत्नी जशोदा बेन ने बताया की उन्‍होने करीब 50 सालों से वह नरेन्द्र मोदी से अलग रह रही है और इतना ही नहीं उन्होंने इस बात का संतोष है कि उन्हें लोग प्रधानमंत्री मोदी की पत्नी के नाम से जानते है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी का विवाह जशोदा बेन से 1968 में हुआ था लेकिन देश की सेवा और संघ के प्रचार के लिए मोदी जी ने अपनी पत्नी को छोड़ दिया था और उसके बाद दोनों कभी भी साथ नहीं रहे। वहीं हैरान कर देने वाली बात ये है कि सबसे पहले जसोदा बेन तब चर्चा में आई थी जब नामांकन भरते समय पहली बार नरेन्द्र मोदी ने पत्नी का नाम जशोदा बेन लिखा था।

आपकी जानकारी के लिए ये भी बता दें कि जशोदा बेन बनास कानठा जिले के राजोशाना गाँव में एक प्राइमरी स्कूल में अध्यापिका थी। इतना ही नहीं वो बताती हैं कि आज के समय में उनकी जिंदगी पूरी तरह से बदल चुकी है। वैसे इस समय में जशोदा बेन की सुरक्षा में करीब 5 पुलिस सुरक्षा कर्मी हमेशा ही तैनात रहते हैं वहीं ये भी बता दें की आज इतने सालों से अलग रहने के बाद भी जशोदा बेन पीएम मोदी के लिए हफ्ते में चार दिन व्रत रहती है। उनकी बहुत इच्छा है कि वह उनके साथ रहे लेकिन उन्‍हें डर भी है की मीडिया उन्‍हें गलत तरीके से दिखायेगी इसिलए वो ऐसा नहीं करेंगी।

वहीं आपको ये भी बता दें कि वो कहती है कि अगर वह मुझे बुलायेगे तो मै उनके साथ चली जाउंगी। इसके अलावा उन्‍होंने ये भी बताया की वो अपने पति पीएम मोदी से एक उम्‍मीद थीं।

जी हां जशोदा बेन ने बताया कि जब प्रधानमंत्री ने वड़ोदरा से परचा भरते समय पत्नी के रूप में मेरा नाम लिखा तो उसे पढ़कर उनकी आंखें भर आई थी।