जिनके घर में बुजुर्ग हैं उनके लिए मोदी सरकार ने दी बड़ी खुशखबरी, 10 साल तक देगी 10 हजार रुपए, ऐसे करें आवेदन

13717

इस बात पर तो कोई भी शक नहीं है की जब से केंद्र में बीजेपी की सरकार आई है तब से देश में कई सारे परिवर्तन और कई सारी योजनाओं का शुभारम्भ किया गया है  जो की आम जनता के हित में हो |हमारे देश के माननीय प्रधानमन्त्रीश्री नरेंद्र मोदी जी ने देश के हर वर्ग बच्चो ,युवाओं के लेकर बुजुर्गों तक के लिए निवेश के कई साडी योजनायें लांच की है जिसका फायदा हर कोई उठा सकता  है |आज हम आपको प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के की एक ऐसी ही योजना के बारे में बताने जा रहे है जो की हमार बड़े बुजुर्गों के लिए बनायीं गयी है जिसमे उन्हें 10 साल तक 10 हजार रुपये की मंथली इनकम हो सकती है |तो आइये जानते है कौन सी है ये योजना |

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (पीएमवीवीवाई), केंद्र सरकार की ओर से बुजुर्गों के लिए चलाई गई एक पेंशन योजना है। संक्षेप में इसे प्रधानमंत्री वंदना योजना या वय वंदना योजना भी कहा जाता है। इस योजना के तहत, देश का कोई भी वरिष्ठ नागरिक (60 वर्ष उम्र)  एकमुश्त पैसा जमा करके 10 साल तक 1 हजार से 10 हजार रुपए तक पेंशन प्राप्त कर सकता है। भारत सरकार इसे एलआईसी की एक पॉलिसी के रूप में संचालित करती है। इस लेख में हम प्रधानमंत्री वाया वंदना योजना (2018) के बारे में सभी प्रमुख तथ्यों की जानकारी दे रहे हैं।

क्या है प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (पीएमवीवीवाई) ‌PMVVY? 

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (पीएमवीवीवाई) के तहत दस साल तक 8% सालाना रिटर्न की गारंटी के साथ पेंशन दी जाती है. इसमें पेंशन मासिक, तिमाही, छमाही या सालाना आधार पर लिया जा सकता है| जानकारी के लिए आपको बता दे प्रधान मंत्री जी की वाया वंदना योजना को एल आई सी से कनेक्टेड किया गया है , ऐसे में आप अपने नजदीकी एल आई सी ऑफिस में जाकर वय वंदना योजना के लिए फार्म भर सकते हैं, जिसके तहत यदि आपकी आयु 60 वर्ष से ऊपर है तो आप इस योजना से जुड़ कर इसका पूरा पूरा लाभ उठा सकते है |इस योजना के लिए अधिकतम उम्र का कोई प्रतिबंध नहीं है, यानी कि सुपर सीनियर सिटिजन भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। योजना के लाभों में भी उम्र के अनुसार किसी तरह का अंतर नहीं आता।

परिवार के कितने भी सदस्य ले सकते हैं ये पॉलिसी

किसी अगर एक परिवार में एक से ज्यादा बुजुर्ग नागरिक हैं तो एक से ज्यादा लोग भी प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (पीएमवीवीवाई) की पॉलिसी खरीद सकते हैं। लेकिन परिवार के सभी सदस्यों का कुल निवेश एक परिवार के लिए तय अधिकतम निवेश राशि  (15 लाख रुपए) से ज्यादा नहीं हो सकता।

प्रधानमंत्री वंदना योजना: मृत्यु लाभ और परिपक्वता लाभ

अगर पालिसी अवधि (10 साल) के दौरान पॉलिसी धारक की मृत्यु होने की स्थिति में, आपके nominee को निवेश राशि (बकाया ब्याज के साथ) वापिस कर दी जायेगी|अगर पालिसी अवधि के दौरान निवेशक की मृत्यु नहीं होती, तो सारा पैसा निवेशक को ही लौटा दिया जाएगा

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना  में असमय (premature) एग्जिट

यह इतना आसान नहीं है| आप अपनी मर्ज़ी से कभी भी पैसा नहीं निकाल सकते|केवल यदि आपको अपने या अपने पति या पत्नी की किसी टर्मिनल/गंभीर बीमारी के इलाज के लिए पैसे की जरूरत है, तभी आप समय के पहले पैसे निकाल सकते है ।इस केस में भी आप को 2% की पेनल्टी देनी होगी| और आपको 98% राशि वापिस कर दी जायेगी|

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना: (प्रधानमंत्री वय वंदना योजना टैक्स बेनिफिट)

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना  में निवेश करने पर सेक्शन 80C के तहत कोई टैक्स बेनिफिट नहीं मिलता|साथ ही मिलने वाली पेंशन पर आपको अपने टैक्स ब्रैकेट के अनुसार टैक्स देना होगा|मेच्योरिटी के समय आपको आपका निवेश लौटा दिया जाएगा, इस राशि पर आपको कोई टैक्स नहीं देना होगा|