26 दिसम्बर साल का आखिरी सूर्यग्रहण बदलेगा इन 7 राशियों की किस्मत, 2 को होगा नुकसान

689

दोस्तों 26 दिसम्बर को साल का आखिरी सूर्यग्रहण लगने जा रहा है जी हाँ इस बार ये ग्रहण भारत में भी देखा जायेगा सूर्यग्रहण अमावस्या के दिन लगता है. जोकि एक खगोलीय घटना है. जब चन्द्रमा सूर्य और पृथ्वी के बीच में आ जाता है तब सूर्यग्रहण की घटना घटित होती है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सूर्य को ग्रहण लगना अशुभ माना जाता है. इस बार लगने वाले ग्रहण से सूर्य का बीच का हिस्सा पूरी तरह से ढक जायेगा और बाहर का भाग प्रकाशित रहेगा. जिस कारण सूर्य आग की अंगूठी की तरह दिखाई देगा. 26 दिसम्बर को सूर्यग्रहण सुबह 8 बजकर 17 मिनट से शुरू होगा इस ग्रहण की समाप्ति 10 बजकर 57 मिनट पर हो जाएगी इसलिए ये ग्रहण 2 घंटे तक रहने वाला है.

सूर्यग्रहण का असर सभी राशियों पर होने वाला है इस बार भी इस सूर्यग्रहण का असर सभी राशियों पर होने वाला है. लेकिन किसी राशि पर इसका असर सकरात्मक होगा तो किसी पर इसका असर नकारात्मक होगा. आइयें जानते है इस सूर्यग्रहण का असर किन किन राशियों पर होने वाला है और ऐसे कौन से अच्छे और बुरे प्रभाव है जो इन राशि वाले लोगो को देखने पड़ सकते है. ये साल का आखिरी सूर्यग्रहण है इसलिए ये अपना प्रभाव कुछ राशियों के जीवन पर डालेगा और उन्हें नये साल तक ये प्रभाव झेलने पड़ सकते है.

मेष राशि, वृषभ राशि – सूर्य ग्रहण का असर आपके भाग्य को प्रभावित करेगा. सूर्यदेव के प्रभावों को कम करने के लिए आपको अपने इष्टदेव के मन्त्रो का उचारण करना होगा. यदि आपको अपने इष्टदेव का नही पता है तो आपको अपने ग्रहणकाल के समय हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए.

मिथुन राशि – सूर्य ग्रहण का असर इस राशि के जातको पर बहुत ही अशुभ पड़ने वाला है क्योंकि ये ग्रहण आपके अष्टम भाग पर पड़ रहा है. सूर्यग्रहण के अशुभ फलों से बचने के लिए आपको ग्रहण काल के समय से पहले ही भगवान गणेश जी को सिन्दूर अर्पित करना है.

मीन राशि – इस राशि के जातको के लिए ये सूर्यग्रहण उनके सातवे भाव पर लग रहा है जो उनके पति पत्नी वाले जीवन पर प्रतिकूल प्रभाव डालेगा. इसलिए उसके प्रभाव को कम करने के लिए इस राशि के जातको को ॐ नम भगवते वासुदेवाय नम का जाप करना है. ग्रहण शुरू होते ही आपको इस मन्त्र का जाप शुरू करना है और ग्रहण खत्म होने तक इसका जाप करते रहना है.

कर्क राशि – सूर्यग्रहण आपके छठे भाव पर रहेगा. आपके लिए ये सूर्यग्रहण कई मामलो में शुभ परिणाम देगा. लेकिन कुछ मामलो में आपको परेशानी भी आ सकती है. इसलिए इस सूर्यग्रहण के अशुभ फलों को कम करने के लिए आपको ग्रहण काल में भगवान शिव की आराधना करनी चाहिए और उनके मन्त्र ॐ नम शिवाय का जाप करना चाहिए.

सिंह राशि – सूर्यग्रहण सिंह राशि के पांचवे भाव पर लग रहा है. जो इनके प्रेम सम्बन्ध और सन्तान को कष्ट पहुंचाएगा. इसलिए इस समय सिंह राशि के जातको को सूर्यग्रहण के अशुभ प्रभावों को कम करने के लिए उपाय के रूप में आपको आदित्य हृदय स्त्रोत मन्त्र का जाप ग्रहण काल के दौरान करते रहना है.