दुर्गा पूजा पंडाल में रानी मुख़र्जी ने मुह पर मास्क लगाये यूँ किया बाकि सितारों के साथ मस्ती,देखें तस्वीरे

372
जैसा के हम सभी को पता है के कोरोना की महामारी आज पूरे विश्व के लिए एक बहुत ही बड़ा खतरा बनी हुई है| ऐसे मे हमारे कुछ शबे बड़े त्योहार भी काफी अधिक प्रभावित हुए हैं| इन त्य्हारों में कुछ सबसे बड़े नाम दशहरा और दुर्गा पूजा हैं| लेकिन अब मुंबई में एक अनोखे तरीके से दर्शकों तक माता रानी को पहुंचाने की तैयारी चल रही है| बता दें के मुंबई के सबसे पुराने और बड़े माँ दुर्गा के पूजा पंडाल को इस साल अलग ढंग से प्रस्तुत करने की सोचा गया है|

जी हाँ आज सोशल डिस्टेंसिंग के न्यमों को ध्यान में रखते हुए इस पूरे पूजा पंडाल को लाइव ब्रॉडकास्ट किया जाने का फैसला लिया गया है| बता दें के नार्थ बॉम्बे सर्बोजनिन दुर्गा पूजा समिति और उनके सदस्यों द्वारा यह निर्णय लिया गया है क्योंकि इस तरह से माता रानी के दर्शन हर किसी को हो जाने वाले हैं| अगर आपको माँ दुर्गा के इस पंडाल के दर्शन करने हैं तो आप नार्थ बॉम्बे सर्बोजनिन दुर्गा पूजा समिति की वेबसाइट से इसका लाइव प्रसारण देख सकते हैं जो के जिओ मीट द्वारा पूरा किया जा रहा है|

नार्थ बॉम्बे सर्बोजनिन दुर्गा पूजा समिति की ऑफिसियल वेबसाइट http://www.nbsdp.com है जिसपर जाकर आप माँ दुर्गा के लाइव दर्शन कर सकते हैं| बता दें के इस वेबसाइट पर आपको इनके द्वारा कराए या हैंडल किये गये कुछ अन्य कार्यक्रमों को भी देख सकते हैं| और इस साल की इस कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए हमे भी लगता है के इनका यह फैसल काबिल-ए-तरीफ़ है|

अगर बात करें इस पूजा पंडाल की तो मुख्यतः यह मुख़र्जी परिवार की तरफ से रहता है| यहाँ पर रानी मुख़र्जी, यान मुख़र्जी, अजय देवगन और काजोल जैसे जाने माने सितारे माँ के दर्शन और मजे करते नजर आते हैं| प्रत्येक साल नॉर्थ बॉम्बे सर्बोजनिन दुर्गा पूजा समिति द्वारा इस पावन दिन पर माँ दुर्गा की 24 फीट ऊंची प्रतिमा स्थापित की जाती है| जिसे लोग चरण स्पर्श कर आशीर्वाद ग्रहण करते नजर आते थे| पर इस साल इस मूर्ती को महज़ 4 फीट ही रखा गया है|

वहीं देबू मुख़र्जी का कहना है के वो और उनकी टीम हर साल लाखों भक्तों के लिए माता रानी के भव्य उत्सव का आयोजन करते हैं पर इस साल का यह उत्सव वर्चुअल होने वाला है| आगे उन्होंने कहा है के इस मुश्किल वक्त में हमने सभी तक माता रानी के दर्शन पहुंचाने के लिए ये डिजिटल प्रबंध करवाए हैं और अगर कोई शख्स पंडाल में पूजा करने आता है तो उसे भी निर्धारित नियमों का पालन करना पड़ेगा|
सांताक्रूज में एक छोटे हॉल में माँ दुर्गा के इस कार्यक्रम को रखा गया है और सबसे अधिक बुजुर्ग सदस्यों से अपील की गयी है के वो इस माहौल में बहर न निकलें| और जो लोग माता रानी के दर्शन को पधार रहे हैं उनसे ऐसी विनती की गयी है के वे कोरोना की गाइडलाइन का सख्ती से पालन करें| साथ ही इस साल मूर्ती, भोग और प्रसाद को चूना भी वर्जित किया गया है| वहीँ शाम और सुभ के समय बिना पुश के माता रानी की आरती की जानी है|