यूपी में अब टूरिस्ट को मिलेगी हेलीकाप्टर टैक्सी, इन शहरों में उपलब्ध होगी ये सुविधा

1958

भारत के यूपी में सरकार आए दिन कुछ ना कुछ नई और सुचारू सुविधाएं दे रही हैं. वहीँ अब उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग राज्य भर के प्रमुख स्थलों को जोड़ने के लिए हेलीकॉप्टर टैक्सी सेवा शुरू करने की तैयारी कर रहा है.यह सेवा इस साल दिसंबर से शुरू होने की संभावना है.पर्यटन विभाग के अनुसार, चूंकि लोग COVID-19 महामारी को देखते हुए भीड़भाड़ वाली उड़ानों और ट्रेनों से बचना चाहते हैं, इसलिए यह सेवा एक ‘तेज़ और शानदार’ विकल्प साबित हो सकती है, और यूपी में कई खरीदार मिल सकते हैं.

इस बारे में जानकारी देते हुए प्रमुख सचिव, पर्यटन और संस्कृति, मुकेश कुमार मेश्राम ने कहा कि ऐसे कई लोग हैं जो इस तरह के महंगे हेलिकॉप्टर खरीद सकते हैं ऐसे में उनके लिए टैक्सी एक अच्छी सुविधा साबित हो सकती है. उन्होंने आगे यह भी कहा कि हेलीकॉप्टर टैक्सी सेवा ऐसे पर्यटकों की जरूरतों को पूरा करेगी.उन्होंने कहा कि हालांकि अधिकांश पर्यटक, विशेष रूप से विदेशी, ताजमहल को देखने के लिए आगरा आते हैं क्योंकि मार्ग में अच्छी कनेक्टिविटी है, वही पर्यटक खराब कनेक्टिविटी के कारण अन्य समान रूप से महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों को छोड़ देते हैं. जैसे, यह सेवा पर्यटकों को ऑफबीट पर्यटन स्थलों पर भी जाने का विकल्प भी प्रदान करेगी.

प्रमुख सचिव पर्यटन एवं संस्कृति मुकेश कुमार मेश्राम के अनुसार आगरा में जहां हेलीपोर्ट बनकर तैयार हैं, वहीं अन्य महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों पर हेलीपोर्ट तैयार करने की प्रक्रिया चल रही है. यह परियोजना निजी-सार्वजनिक भागीदारी (पीपीपी) मॉडल पर आधारित होगी और दो सप्ताह के भीतर एक सलाहकार नियुक्त किया जाएगा.  मेश्राम ने कहा कि यह सेवा सुनिश्चित करेगी कि पर्यटक ऐसे ऑफबीट गंतव्यों तक पहुंच सकें और एक दिन में वापस लौट सकें. आगरा हवाई अड्डे के पास एक हेलीपोर्ट के अलावा, मेश्राम ने कहा कि सरकार के पास पहले से ही प्रयागराज, विंध्याचल, वाराणसी और लखनऊ में एक हवाई अड्डा है.

अधिकारियों के मुताबिक मथुरा और प्रयागराज में भी बुनियादी सुविधाओं के साथ आगरा जैसा हेलीपोर्ट भी बनाया जा रहा है. इसी तरह, बोधगया और कुशीनगर में बौद्ध स्थलों के लिए पर्यटकों के लिए हेलीकॉप्टर टैक्सी भी उपलब्ध होगी. बता दें कि यूपी में कईं तरह के पर्यटक स्थल मौजूद हैं. ख़ास तौर पर आगरा में बना ताजमहल देखने हर साल लाखों लोग यहाँ आते हैं. वहीँ विदेश से भी टूरिस्टस का आना जाना यहाँ बना ही रहता है. ऐसे में यदि हेलीकाप्टर टैक्सी सेवा शुरू की जाती है तो यह पर्यटकों का ध्यान और भी आकर्षित कर सकती है.