बकरी के साथ ऐसा घिनौना काम करने के बाद आरोपियों ने कही ऐसी बात, सुनकर कोई भी हो जाएगा हैरान

3699

वर्तमान समय में हो रही घटनाओ को देखकर लगता हैं की इस दुनिया में इंसानियत नाम की कोई चीज ही नहीं बची हैं| आजकल आए दिन बलात्कार के मामले सामने आ रहे हैं| लेकिन क्या आपने किसी पशु के साथ बलात्कार के मामले सुने है| नहीं ना तो हम आपको बताते हैं की हरियाणा जिले में अब महिलाएं ही नहीं बल्कि पशु भी असुरक्षित हैं।

जी हाँ हाल ही में आठ लोगों ने अपनी दरिंदगी की हद पार कर दी| हरियाणा के नुंह जिले में आठ लोगों ने एक बेजुबान जानवर को भी नहीं छोड़ा हैं| इस घटना के बाद लगता हैं की हरियाणा में इंसान तो इंसान पशु भी नहीं सुरक्षित हैं|

यहां हवस के प्यासे 8 लोगों ने एक बकरी के साथ गैंगरेप किया। जबकि बकरी गर्भवती थी| इस घटना के कुछ देर बाद ही बकरी ने तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया। बकरी के मर जाने के बाद बकरी के मालिक ने इस संबंध में मामला दर्ज कराया है। इस मामले को लेकर जब बकरी के मालिक ने उन दरिंदों से कहा कि वो पुलिस में मामला दर्ज करेगा तो आरोपियों ने अपनी निर्लज्जता दिखाते हुये कहा कि तुमसे जो भी बनाता है करलो हम तो ऐसे ही करेंगे हमारा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। अर्थात उन्हें उस बेजुबान जानवर के ऊपर जरा भी तरस नहीं आयी|

हालांकि पुलिस ने उन सभी 8 आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर लिया है। पुलिस ने बताया है कि पहले बकरी की मेडिकल जांच कराई जाएगी| फिर उसके बाद ही पुलिस उन आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। बकरी के मालिक के मुताबिक कुकर्मी नशेड़ी और शराबी थे| इस घटना के बारे में बकरी के मालिक ने बताया की रात को उसकी बकरी आँगन में सो रही थी, तभी इन आरोपियों ने मेरी बकरी के साथ छेड़खानी की और मेरे विरोध करने पर गाँव के लोगों ने उनकी पिटाई शुरू कर दी| इस पिटाई से वो बहुत गुस्से में थे और कुछ देर बाद वो आए और मेरे बकरी को उठा कर ले गए| इसके बाद इन लोगों ने मेरी बकरी के साथ बला-त्कार किया|

इन आरोपियों की मानसिक हालत ठीक नहीं हैं| पुलिस ने बताया की इन 8 आरोपियों में 3 लोगों की पहचान हो चुकी हैं| 5 अभी भी फरार हैं| इस घटना को देखकर लगता हैं की ब-लात्कारियों को पुलिस का कोई खौफ नहीं हैं| इस तरह की घटना पहली बार आयी हैं| जब 8 लोगों ने एक बेजुबान जानवर का बलात्कार कर दिया| वो भी ऐसे बेजुबान जानवर की जो पहले से गर्भ से थी| इन दरिंदों को एक जानवर के ऊपर भी दया नहीं| ऐसे लोगों को तो ऐसी सजा देनी चाहिए| जो की दूसरे आरोपियों के लिए मिशाल बने ताकि इस तरह की हरकत करने से पहले दरिंदे एक बार नहीं दस बार सोचें|

हालांकि कानूनी रूप से पशुओ के साथ इस तरह की घटना होने पर भी सजा का प्रावधान हैं| हम आपको बता दें की आईपीसी की धारा 429 के तहत 50 रुपये से ज्यादा कीमत वाले पालतू जानवरों को मारने या उसके साथ किसी प्रकार की छेड़खानी करना जुर्म हैं| इस जुर्म में 5 साल तक की सजा का प्रावधान हैं|