अटल जी के पार्थिव शरीर का अंतिम दर्शन शुरू ,सामने आई तस्वीरे ,इतने बजे निकलेगी अंतिम यात्रा

1265

जैसा की हम सभी जानते है की पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी अब हमारे बिच नहीं रहे|अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर में हुआ था.बीते गुरुवार की शाम करब 5 बजकर 5 मिनट पर उन्होंने दिल्ली के के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में अपनी अंतिम सांसे ली है| अटल बिहारी वाजपेयी जी  पिछले 9 हफ्ते से नई दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती थे और उनकी हालत बेहद नाजुक बनी हुई थी  और बुधवार के दिन तो उनकी हालत ज्यादा गंभीर हो गई थी जिसके कारण उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया था.

 

वाजपेयी  को गुर्दा (किडनी) की नली में संक्रमण, छाती में जकड़न, मूत्रनली में संक्रमण आदि के बाद 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था. मधुमेह पीड़ित 93 वर्षीय भाजपा नेता का एक ही गुर्दा काम करता था|वाजपेयी जी के निधन की खबर से पुरे देश में शौक की लहार दौड़ पड़ी है. राष्ट्रपति से लेकर प्रधानमंत्री के अलावा सभी दलों के राजनेता ने अपना शोक व्यक्त किया है. सभी अटल जी का जाना देश के लिए श्रति बताया है|अटल बिहारी वाजपेयी को वर्ष 2015 में नरेंद्र मोदी की सरकार ने देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न ने नवाजा. इस सम्मान से पहले भी वाजपेयी जी को पदम विभूषण से लेकर कई अन्य सम्मान प्राप्त हुए.

आपको बता दे अटल बिहारी वाजपेयी जी के  निधन के बाद पार्टी मुख्यालय का झंडा झुका दिया गया है. इसके अलावा 17 सेव 22 अगस्त तक पूरे सात दिनों के लिए देश में राजकीय शोक घोषित कर दिया गया है. साथ ही सभी सरकारी दफ्तर का झंडा झुका दिया गया है और वही अगर उनके अंतिम संस्कार  की बात की जाये तो जानकारी के मुताबिक एम्स अस्पताल से उनके पार्थिव शरीर को निकालकर उनके निवास स्थान पर लाया जा चूका है और अब उनके पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन के लिए देश के सभी बड़े छोटे नेताओं ने उन्हें श्रधांजलि दी है |

बता दे अटल जी को उनके निवास स्थान पर थल सेना, जल सेना और वायु सेना के प्रमुखों द्वारा उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गयी है और इसी के साथ ही अनेक राजनीतिक हस्तियों का उनके पार्थिव  शरीर के अंतिम दर्शन के लिए  तांता लगा हुआ है एवं सभी लोग उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं. यहां उनके शव पर तिरंगा ओढ़ाया गया है|इस जगह को सजाया जा रहा है. अंतिम विदाई की तैयारियां शुरू हो गईं हैं. उनके अंतिम दर्शन के लिए राजनीतिक हस्तियों का तांता लग गया है.

बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी शाम करीब सवा सात बजे अस्पताल पहुंचे और वहां करीब 50 मिनट तक डॉक्टरों से पूर्व प्रधानमंत्री के स्वास्थ्य के बारे में बातचीत की. इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और रेल मंत्री पीयूष गोयल और सांसद मीनाक्षी लेखी भी वाजपेयी का हाल जानने एम्स पहुंचे.

पीएम मोदी, आडवाणी समेत कई नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के अंतिम दर्शन शुरू हो गए हैं. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम नरेंद्र मोदी, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, अमित शाह, सुषमा स्वराज, , पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी समेत कई नेताओं ने श्रद्धांजलि दी.

दोपहर 1 बजे निकलेगी अंतिम यात्रा

अमित शाह ने कहा कि राजनीति के आकाश का ध्रुवतारा नहीं रहा. देश के अजातशत्रु को खोया. अमित शाह ने कहा कि अटल जी के न रहने से जो रिक्तता हुई है, उसे लंबे समय तक भरना असंभव है|शुक्रवार सुबह नौ बजे उनके पार्थिव शरीर को पार्टी मुख्यालय पर लाया जाएगा. जहाँ पर उनके चाहने वाले लोग उनका अंतिम दर्शन करेंगे|उसके बाद दोपहर करीब 1 बजकर 30 मिनट पर अटल जी की अंतिम यात्रा पार्टी मुख्यालय से निकलेगी|उनकी अंतिम यात्रा भाजपा मुख्यालय से राष्ट्रीय स्मृति स्थल तक होगी.