जब पार्किंग वाले ने स्मृति ईरानी से मांगे 20 रुपये,तो उन्होंने उसके साथ जो किया जान आप भी हैरान रह जायेंगे

2576

ये बात तो हम सभी जानते हैं के अगर कोई व्यक्ति राजनीती में आता है तो वो अपने आप ही चर्चों में शामिल हो जाता है| इतना ही नही बल्कि उसकी बड़ी-बड़ी बातों और फैसलों के साथ उनसे जुडी हर एक छोटी बात को भी मीडिया पर लाया जाता है| अब जैसे के अगर कोई मंत्री कहीं पर जा रहा होता है तो उससे जुडी लगभग हर छोटी-बड़ी खबर जनता तक पहुंचती रहती है| और आज हम आपके लिए बीजेपी सरकार की अभिन्न मंत्री स्मृति इरानी के बारे में एक ऐसी ही खबर लेकर आये हैं|

और सच कहें तो ऐसे भी स्मृति जी अक्सर ही अपने अजीब फैसलों या घोषणाओं की वजह से अक्सर ही सुर्ख़ियों में बनी रहती हैं| और साथ ही उनके विवादित बयान भी उन्हें सुर्ख़ियों में रहने में मदद करते है। बता दे के अभी कुछ ही वक्त पहले एक नया मामला सामने आया है जिसमे के मंत्री स्मृति ईरानी 20 रूपए के कार टोकन के लिए पार्किंग वाले से भिड़ गयीं। जी हां तो चलिए हम आपको पूरे मामले के बारे में बताते हैं|

कार से गयी थीं राजीव चौक

बता दे के यह घटना कुछ ही वक्त पहले की है जहाँ के मंत्री स्म्रिति इरानी अपनी कार से दिल्ली के राजीव चौक गयी थी| और इसके बाद उन्हें काम से जाना था इसीलिए उन्होंने अपनी कार को पार्किंग में खड़ा कर दिया और इसके बाद निकल गयी| लेकिन इसके बाद जो हुआ उसे जान आप शायद  चौक जायेंगे| हुआ यूँ के जब मंत्री ईरानी लौटकर वापिस ई तो पार्किंग वाले ने कार पार्क करने के लिए टोकन के पैसे मांगे| और ऐसा करने की वजह से ही बवाल हो गया।

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी वीआईपी कल्चर को बढ़ावा देती हुई नज़र आ रही है। ताजा मामला दिल्ली के राजीव चौक का है, जहां कपड़ा मंत्री स्मृति ने अपनी कार पार्किंग करने पर स्टैंड का पैसा देने से इनकार कर दिया।जी हाँ, इस बात को लेकर स्मृति ईरानी और पार्किंग स्टाफ के बीच बहस भी हुई और आखिर में ईरानी बिना स्टैंड का शुल्क दिए ही चली गई।

एक वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले पर कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने स्मृति ईरानी पर निशाना साधा है। उन्होंने लिखा, मंत्रीजी ने पार्किंग के 20 रुपये देने से मना कर दिया और पार्किंग स्टाफ को ये कहने लगी मंत्री हूँ देख लुंगी। बता दें कि दिल्ली राजीव चौक में पार्किंग को लेकर हुई बहस का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें ये कहा जा रहा है कि मोदी सरकार में मंत्री स्मृति ईरानी जब शॉपिंग करने के लिए राजीव चौक गई तब उनके साथ मौजूद उनके सचिव ने पार्किंग के पैसे देने से इनकार कर दिया और पार्किंग स्टाफ को धमकी भी दी

वहीँ खबरों के मुताबिक स्मृति ईरानी के इस मामले की खबर दिल्ली पुलिस अफसरों तक भी पहुँच गयी पहुंची लेकिन अब तक इस मामले का कोई भी केस दर्ज नहीं किया गया है क्योंकि अफसरों का कहना है की जब तक ये बात साफ नहीं हो जाती की स्मृति ईरानी की वो कार निजी थी या सरकारी तब तक कुछ कहा नहीं जा सकता |