पेट्रोल-डीजल 80-90 की जगह सिर्फ 35 से 40 रुपए लीटर बेचना चाहते हैं बाबा रामदेव, मोदी सरकार के लिए कही ये बड़ी बात

414

आज के समय में जिस तरह से लोगो के लिए रोटी कपड़ा और मकान मूल जरूरत होती है ठीक वैसे ही पेट्रोल और डीजल भी लोगो की एक अहम जरूरत बन चुकी है लेकिन इस जरूरत को पूरी करने के लिए लोगो को काफी ज्यादा रकम चुकानी पड़ती है और आये दिन पेट्रोल और डीजल के दामों में इजाफा होता रहता है जिससे उच्च वर्ग के लोगो की जेब पर तो कोई खास असर नहीं पड़ता लेकिन वहीँ मध्यमवर्गीय लोगो के लिए ये काफी मुश्किल हो जाता है |

अगर हम आज की तारीख में देश के कुछ शहरों में पेट्रोल की कीमतों पर नजर डाले ये तो करीब 90 रुपये प्रति लीटर तक पहुँच गया है जो की बहुत ही ज्यादा है |पेट्रोल की इन बढती कीमतों के लिए सरकार भी कोई खास कदम नहीं उठा रही है जिससे जनता को कुछ राहत मिल सके ऐसे में हाल ही में एक बड़ी खबर सामने आ रही है जिसमे हमारे योग गुरु और पतंजलि आयुर्वेद के संस्थापक बाबा रामदेव ने अपने एक बयान में इस बात को लेकर दावा किया है की अगर केंद्र सरकार उन्हें एक मौका दे तो वो देश में पेट्रोल और डीजल के दामों को कम कर बहुत ही सस्ते दरों में बेच सकते है |

आपको बता दे एक न्यूज चैनल को दिए गये इंटरव्यू में बाबा रामदेव ने कहा की “अगर  सरकार मुझे इस चीज के लिए इजाजत दे दे और टैक्स में कुछ राहत प्रदान करे तो मै जनता को मात्र 35 से 40 रुपये प्रति लीटर की दर से पेट्रोल और डीजल बेच सकता हूँ “|इसके साथ ही उन्होंने ईंधन को जीएसटी में लेकर आने  के लिए भी वकालत की उन्होंने अपने इस बयान में कहा की जीएसटी की 28 फीसदी की दर इन ईंधनों पर लागू नहीं करना चाहिए अगर ऐसा होता है तो इससे हमारे देशवासियों को काफी हद तक महंगाई से राहत मिल पायेगी |

वही बाबा रामदेव के इस दावे से ये संकेत मिलता है की अगर सरकार चाहे तो फिर देश में पेट्रोल और डीजल के दामों में गिरावट आ सकती है साथ ही बाबा रामदेव ने यह भी कहा की पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दाम केंद्र सरकार के लिए महंगी साबित हो सकती है इसीलिए बढ़ते दामों को कम करने के लिए सही नीतियाँ बनानी चाहिए |जैसा की कई लोगो का कहना है की बाबा रामदेव बीजेपी के समर्थक है तो इस बारे में योगगुरु रामदेव ने कहा, कई लोग मोदी सरकार की नीतियों की तारीफ करते हैं, लेकिन कुछ नीतियों में अब बदलाव की जरूरत है. कीमत वृद्धि एक बड़ा मुद्दा है और मोदीजी को जल्द सुधार के कदम उठाने होंगे|

बीजेपी का समर्थक माने जानेवाले रामदेव यहीं नहीं रुके उन्होंने अब खुद को राजनीति से दूर कर लिया है. अगले लोकसभा चुनाव में बीजेपी के लिए प्रचार करने के सवाल पर उन्होंने कहा, मैं क्यों करूं? मैं उनके लिए प्रचार नहीं करूंगा.मैंने राजनीति से दूरी बना ली है. मैं स्वतंत्र हूं और सभी पार्टियों के साथ हूं. रामदेव ने माना कि वह न दक्षिणपंथी हैं और न ही वामपंथी, वह मध्यमार्गी हैं.

साथ ही आपको बता दे  कि बाबा रामदेव ने इस मौके पर और भी कई मुद्दों पर चर्चा किया और  पहले भी वे कई टीवी प्रोग्राम में आते रहे है साथ ही वे सही बात बोलने पर कभी भी नहीं चूकते | आयुर्वेद को लेकर बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि देश भर में जमकर काम कर रही है। लोगों ने भी आयुर्वेद प्रोडक्ट्स को खूब पसंद किया है।

“दूध के बाद पेट्रोल-डीजल बेचना चाहते हैं बाबा रामदेव, मोदी सरकार के लिए कही ये बड़ी बात”>